Nainagiri

  • Welcome to Nainagiri Trust

    यह बुन्देलखण्ड का प्राचीनतम तीर्थ है। इस तीर्थ पर स्थित सिद्ध शिला से भगवान नेमिनाथ के काल में आचार्य वरदत्तादि पॉच मुनिवर मोक्ष पधारें थे। तीन हजार वर्ष पूर्व इस तीर्थ पर भगवान पार्श्वनाथ का समवसरण आयोजित किया गया था। पर्वत पर 38, तलहटी में 15 एवं महावीर सरोवर में 2 विशाल मंदिर है। जल मंदिर एवं मानस्तंभ तथा समवसरण मंदिर बहुत सुन्दर और आकर्षक है।

  • Ninagiri Temple

    एक हजार वर्ष पूर्व सन् 1050 में प्रतिष्ठित प्राचीन मूर्तियॉ पर्वत पर स्थित मंदिर क्र. 37 में विराजमान है। जो मनोज्ञ एवं आकर्षक है। चौबीसी मंदिर में विराजमान भगवान पार्श्वनाथ की तदाकार मूर्ति अत्यंत ही आकर्षक एवं मनोज्ञ है। इस प्रतिमा पर फण नहीं है। सर्प का चिन्ह है। तलहटी में विशाल जिनालय है।